WhatsApp आजकल लोगों द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल में लाया जाने वाला इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म है. इसका इस्तेमाल यूजर्स कॉलिंग, वीडियो कॉलिंग और मैसेजिंग के लिए करते हैं. चूंकि ये एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड है इसलिए ये प्लेटफॉर्म सुरक्षित भी है.

WhatsApp को सेफ्टी के साथ यूज करने के लिए अपनाएं ये पांच आसान तरीके

Feedback

WhatsApp आजकल लोगों द्वारा सबसे ज्यादा इस्तेमाल में लाया जाने वाला इंस्टैंट मैसेजिंग प्लेटफॉर्म है. इसका इस्तेमाल यूजर्स कॉलिंग, वीडियो कॉलिंग और मैसेजिंग के लिए करते हैं. चूंकि ये एंड-टू-एंड एनक्रिप्टेड है इसलिए ये प्लेटफॉर्म सुरक्षित भी है. ऐसे में आपके चैट्स और कॉल्स कोई देख-सुन नहीं सकता. लेकिन फिर भी कुछ स्कैम वगैरह और अनजान लोगों से सतर्क रहने के लिए आप कुछ टिप्स फॉलो कर सकते हैं, जिसकी हम यहां चर्चा करने जा रहे हैं.

1. सुनिश्चित करें कि केवल आपके कॉन्टैक्ट्स ही आपका प्रोफाइल पिक्चर देखें.

वॉट्सऐप आपको ये आजादी देता है कि आपका प्रोफाइल पिक्चर केवल आपके कॉन्टैक्ट्स ही देख पाएं. इसके लिए आपको सेटिंग्स में जाना होगा और यहां अकाउंट में क्लिक करना होगा और उसके बाद प्राइवेसी में जाना होगा. यहां आपको प्रोफाइल फोटो को लेकर ऑप्शन्स नजर आएंगे, जिसमें से आप माय कॉन्टैक्ट्स सेलेक्ट कर सकते हैं.

2. ऐसे लोगों को ब्लॉक करें जिनसे आप चैट नहीं करना चाहते  

काफी बार ऐसा होता है कि हम बहुत सारे ऐसे लोगों के कॉन्टैक्ट भी अपने फोन सेव करते हैं, जिनसे हम चैट नहीं करना चाहते लेकिन केवल दूसरे कामों के लिए नंबर रखना जरूरी होता है. बेहतर होगा कि ऐसे लोगों को वॉट्सऐप पर ब्लॉक कर दें.

3. वॉट्सऐप में किसी के साथ भी अपनी बैंक डिटेल शेयर ना करें

स्कैमर्स और हैकर्स की पहुंच काफी सुरक्षा के बाद काफी जगहों पर होती है. वे नए-नए तरीकों से लोगों को अपनी जाल में फंसाने की कोशिश करते हैं. ऐसे में किसी भी अनजान व्यक्ति द्वारा किसी भी तरह के OTP या बैंक डिटेल जैसी अन्य संवेदनशील जानकारियां मांगे जाने पर कभी साझा ना करें.

4. किसी अनजान कॉल या मैसेज को रिप्लाई ना करें जिसका कंट्री कोड अलग हो

भारत के लिए कंट्री कोड +91 है. कई बार स्कैमर्स इंटरनेशनल कॉल जैसा लगने के लिए और लोगों को फंसाने के लिए अपने नंबर की मास्किंग करते  हैं. ऐसे में अगर आपको जरा भी शक हो कि इस नंबर का कोई भी आपका रिश्तेदार या दोस्त फॉरेन में मौजूद नहीं है, तो उसे रिसीव ना करें.

5. टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन एक्टिवेट करें

ये फीचर आपको अकाउंट में डबल लॉक सेट करता है. पहले लेवल पर आप अपने अकाउंट को फेस-लॉक, फिंगरप्रिंट लॉक या कोड लॉक से सिक्योर करेंगे. और दूसरे लेवल में रजिस्टर्ड नंबर को ऐड करेंगे.

ऐसे में जब भी आप अपना मेन डिवाइस चेंज करेंगे और जब आपको किसी नई डिवाइस में अपना वॉट्सऐप अकाउंट सेट करना होगा. ऐप आपको रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर OTP भेजेगा. ये OTP आपको नई डिवाइस में वॉट्सऐप अकाउंट सेट करने में काम आएगा. ध्यान रहे ये OTP आप कभी किसी से साझा ना करें. क्योंकि संभव है कि कोई आपके अकाउंट में लॉग-इन करने की कोशिश करे और गलती से उसे ये OTP मिल जाए.