वैक्सीन को लेकर केंद्र सरकार पर आम आदमी पार्टी लगातार हमलावर है. पार्टी ने आरोप लगाया है कि वैक्सीन विदेश भेजने के सवाल पर दिल्ली पुलिस एफआईआर दर्ज कर रही है और हमारे कार्यकर्ताओं को जेल में डाल रही है. AAP का दावा है कि केंद्र सरकार ने पड़ोसी देशों को करोड़ों वैक्सीन भेज दी, जिसकी वजह से देश में किल्लत है.

1. 'मोदी जी, हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी?' पोस्टर पर गिरफ्तार कर रही दिल्ली पुलिस, AAP का दावा

Feedback

आम आदमी पार्टी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाया है कि जब हिंदुस्तान के लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से सवाल कर रहे हैं कि हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश क्यों भेजी तो बीजेपी की दिल्ली पुलिस एफआईआर दर्ज कर रही है. पार्टी कार्यकर्ताओं को जेल में डाल रही है. आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता व एमसीडी प्रभारी दुर्गेश पाठक ने आरोप लगाते हुए कहा कि पीएम मोदी ने पाकिस्तान, बांग्लादेश, ईरान, इराक जैसे लगभग 94 देशों में करोड़ों वैक्सीन भेज दी, जिसके चलते हिंदुस्तान में लोग तड़प-तड़प कर मर रहे हैं. 

उन्होंने भारतीय जनता पार्टी(बीजेपी) को घेरते हुए कहा कि आप इस तरह के प्रश्न पूछने पर किसी को गिरफ्तार नहीं कर सकते हैं. हम लोकतंत्र में रहते हैं. लेकिन अगर फिर भी आपको गिरफ्तार करने का शौक है तो ये पोस्टर आम आदमी पार्टी ने लगवाए हैं, ये पोस्टर मैंने लगवाए हैं. 

दुर्गेश पाठक ने कहा कि हमें गिरफ्तार करिए, हमारे विधायकों को गिरफ्तार करिए. जो हमारे गरीब-दुखियारे 100-200 रुपए लेकर पोस्टर लगाते हैं, जो लोग ऑटो-रिक्शा चलाते हैं उनको आप पीट रहे हैं, उनको आप थाने में बुलाकर गिरफ्तार कर रहे हैं, यह तानाशाही नहीं चलेगी. 

जारी रहेगी ये मुहिम

AAP विधायक कुलदीप कुमार ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब तक दिल्ली के लोगों को वैक्सीन नहीं मिल जाती, देश के लोगों को वैक्सीन नहीं मिल जाती, तब तक यह मुहिम जारी रहेगी. तब तक देश के लोग आपसे पूछते रहेंगे. हम यह पूरी जिम्मेदारी से कह रहे हैं कि यह पोस्टर हमने लगाया है. आपको मुकदमा करना है तो हमारे ऊपर करो, उन बेचारे गरीब पोस्टर लगाने वालों पर मत करो.

हर तरफ लाशों का ढेर: AAP

रविवार को एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए दुर्गेश पाठक ने कहा कि आज पूरे हिंदुस्तान में हर तरफ लाशों के ढेर लगे हुए हैं. आज हर उम्र के लोग कोरोना की चपेट में आकर अपनी जान गंवा रहे हैं. किसी को अस्पताल नहीं मिल रहा है, कोई ऑक्सीजन की कमी से मर रहा है, किसी को आईसीयू नहीं मिल रहा है. किसी की सड़क पर जान जा रही है, किसी की एंबुलेंस में जान जा रही है. हर तरफ लाशें ही लाशें दिख रही हैं. इतना बुरा हाल हो गया है कि शवदाह गृहों, कब्रिस्तानों में जगह नहीं है. आज नदियों में हजारों लाशें तैर रही हैं. इतना भीषण रूप, इतना बुरा हाल हिंदुस्तान का कभी नहीं हुआ था. इतनी बुरी स्थिति हिंदुस्तान के लोगों की कभी नहीं हुई थी.

कोरोना से जंग के लिए आया एक और हथियार, कल से मरीजों को मिलेगी DRDO की एंटी-कोविड दवाई

अगर वक्त पर मिलती वैक्सीन तो बच जाती लोगों की जान

AAP ने यह भी आरोप लगाया कि लाखों लोगों की जिंदगी बचाई जा सकती थी अगर किसी तरह से इन्हें वैक्सीन का डोज लग जाता. लोग रात-रात भर अपने कंप्यूटर पर बैठकर वैक्सीन का स्लॉट ढूंढ रहे हैं. आज लोग जुगाड़ लगा रहे हैं कि कैसे भी करके उन्हें वैक्सीन लग जाए. आज हमारे बुजुर्ग लोग, 45 वर्ष से ऊपर के लोग डिस्पेंसरी के सामने धक्के खा रहे हैं. उन्हें वैक्सीन नहीं मिल रही है. इसका एक कारण यह है कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने देश की करोड़ों वैक्सीन विदेशों में भेज दी है.  

जगह-जगह गिरफ्तार हुए AAP कार्यकर्ता!

दुर्गेश पाठक ने आरोप लगाया और कहा, आज करावल नगर से 2 कार्यकर्ताओं को जेल में डाला गया है. गोंडा से 2 कार्यकर्ता, मंगोलपुरी से 2 कार्यकर्ता, रिठाला से, अंबेडकर नगर से, बुराड़ी से, कालकाजी से कार्यकर्ताओं को जेल में डाला गया है. लगभग 500-550 कार्यकर्ताओं को सुबह थाने बुला लिया जाता है. पुलिस रात तक उनसे पूछताछ करती है. उनका गुनाह क्या है? उनका गुनाह यह है कि उन्होंने मोदी जी से पूछा कि आपने हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेश में क्यों भेज दी? उन्होंने मोदी जी से यह प्रश्न पूछा कि जिस वैक्सीन से हमारी मां बच सकती थी, जिससे हमारी बहनें और बच्चे बच सकते थे उस वैक्सीन को आपने विदेश क्यों भेजी? हमने यह प्रश्न किए जिसके कारण आज हमें गिरफ्तार किया जा रहा है. हमारे कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया जा रहा है. 

कब लगेगी युवाओं को वैक्सीन?

AAP विधायक कुलदीप कुमार ने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि पूरा देश पूछ रहा है कि मोदी जी आपने हमारे बच्चों की वैक्सीन विदेशों को क्यों दे दी. ये प्रश्न मेरी विधानसभा के लोग भी पूछ रहे हैं. युवाओं को वैक्सीन कब, इसका जवाब हमें भी नहीं पता लेकिन सवाल लोग रोज पूछते हैं. पीएम मोदी सर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि आपने हमारे हिस्से की वैक्सीन को विदेश क्यों भेजा, इसका जवाब आपको देना होगा.