समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक 1.05 कैरेट के हीरे को प्लेटिनम और सोने की अंगूठी पर जड़ा गया है. इस हीरे के बेहद खास रंग की वजह से इसे इतनी ऊंची कीमत पर बेचा गया.

1. एक अंगूठी की कीमत इतनी की आप खरीद लें कई घर और 10-20 ऑडी-मर्सिडीज

Feedback

हीरे की अंगूठी पहनना भला किसे पसंद नहीं होगा लेकिन सोचिए जब एक अंगूठी की कीमत इतनी हो कि वो विश्व रिकॉर्ड बन जाए तो आप भी जरूर उसे देखना चाहेंगे. जी हां बुधवार को जिनेवा में एक अंगूठी को 20 करोड़ रुपये से भी ज्यादा में बेचा गया. नीलामी में फिंगर रिंग पर जड़ा हुआ एक दुर्लभ बैंगनी रंग का हीरा ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया क्योंकि इसे 2.77 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी की 20 करोड़ (20,67,45,875.00) में बेचा गया. 

हीरे की अंगूठी पहनना भला किसे पसंद नहीं होगा लेकिन सोचिए जब एक अंगूठी की कीमत इतनी हो कि वो विश्व रिकॉर्ड बन जाए तो आप भी जरूर उसे देखना चाहेंगे. जी हां बुधवार को जिनेवा में एक अंगूठी को 20 करोड़ रुपये से भी ज्यादा में बेचा गया. नीलामी में फिंगर रिंग पर जड़ा हुआ एक दुर्लभ बैंगनी रंग का हीरा ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बना दिया क्योंकि इसे 2.77 मिलियन अमेरिकी डॉलर यानी की 20 करोड़ (20,67,45,875.00) में बेचा गया. 

20 करोड़ रुपये की अंगूठी

  • 2/5

समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के मुताबिक 1.05 कैरेट के हीरे को प्लेटिनम और सोने की अंगूठी पर जड़ा गया है. इस हीरे के बेहद खास रंग की वजह से इसे इतनी ऊंची कीमत पर बेचा गया.

20 करोड़ रुपये की अंगूठी

  • 3/5

फैंसी फिंगर रिंग को टियारा जेम्स और ज्वैलरी डीएमसीसी ने खरीदा था, जो दुबई के भारतीय एक्सपर्ट आशीष विजय जैन के स्वामित्व में थी. अपने निवेश के बारे में बात करते हुए आशीष विजय जैन ने एएनआई को बताया, "आभूषण उद्योग तेजी से बढ़ रहा है, अधिक प्रतिस्पर्धी बन रहा है इसलिए हमें उपभोक्ता भावना के प्रति संवेदनशील होना चाहिए.

20 करोड़ रुपये की अंगूठी

  • 4/5

COVID-19 महामारी के बीच, हमेशा दुर्लभ रत्न पर अधिक कीमत मिलती है. यह एक निवेश हैं. आम तौर पर हीरे का रंग सफेद होता है. इसलिए लाल रंग के हीरे को बेहद दुर्लभ माना जाता है. यही वजह है कि यह सबसे महंगा होता है.

20 करोड़ रुपये की अंगूठी

  • 5/5

जेमोलॉजिस्ट लाल हीरे के बनने की वजह का पता लगाने के लिए लंबे समय से इस पर रिसर्च और बहस कर रहे हैं. इसके बाद, कुछ लोग इस निष्कर्ष पर पहुंचे कि लाल रंग हीरे की संरचना में ग्लाइडिंग परमाणुओं की उपस्थिति के कारण होता है. इसके निर्माण के दौरान, एक हीरा अपने परमाणु संरचना को बदल देता है, जिससे मणि को एक विशेष रंग मिलता है.