जिला स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, हरिद्वार 83 श्रद्धालु गए थे, जिसमें से केवल 61 की ही जानकारी मिल पाई है, 22 का अब तक पता नहीं चला है और उनका पता लगाने के लिए हर संभव कोशिश की जा रही है. जिन 61 का पता चला, उसमें से 60 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

1. MP के Vidisha में Kumbh से लौटे 83 श्रद्धालुओं में से 60 Corona Positive, 22 के बारे में नहीं कोई खबर

भोपाल: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के विदिशा (Vidisha) में कुंभ (Kumbh) से लौटे 83 श्रद्धालुओं में से 60 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इनमें से  22 के बारे में प्रशासन को कोई जानकारी नहीं है. एक साथ 60 लोगों के कोरोना (Coronavirus) संक्रमित होने की खबर ने स्थानीय सरकार के साथ-साथ उन सभी राज्यों को भी चिंता में डाल दिया है, जहां के श्रद्धालुओं ने कुंभ में हिस्सा लिया है. गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में पहले से ही कोरोना ने कहर बरपाया हुआ है.

प्रशासन के अनुसार, यह मामला विदिशा जिला मुख्यालय से 40 किलोमीटर दूर स्थित ग्यारसपुर का है. 83 तीर्थयात्री तीन अलग-अलग बसों में 11 से 15 अप्रैल के बीच हरिद्वार (Haridwar) के लिए रवाना हुए थे. वापसी पर जब इनका टेस्ट कराया गया, तो 60 की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई. 83 में से 22 के बारे में प्रशासन को कोई जानकारी नहीं है. अधिकारी उनका पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं. 

ये भी पढ़ें -1 मई से 18+ वालों के वैक्सीनेशन पर संकट के बादल, कई राज्यों के पास नहीं हैं वैक्सीन के स्टॉक, करना होगा इंतजार

एक अधिकारी ने बताया कि सभी तीर्थयात्री पहले ग्यारसपुर से जिला मुख्यालय कार से पहुंचे, फिर बस से हरिद्वार के लिए रवाना हुए. तीर्थयात्री जब 25 अप्रैल को ग्यारसपुर लौटे तो उनके बारे में जानकारी जुटाकर उनका टेस्ट कराया गया. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, हरिद्वार 83 श्रद्धालु गए थे, जिसमें से केवल 61 की ही जानकारी मिल पाई है, 22 का अब तक पता नहीं चला है और हम उनका पता लगाने के लिए हर संभव कोशिश कर रहे हैं. जिन 61 का पता चला, उसमें से 60 कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पॉजिटिव मिले 60 में से 5 की हालत गंभीर है, उन्हें COVID सेंटर में शिफ्ट किया गया है. इसके अलावा बाकी 55 संक्रमितों को होम क्वारनटीन किया गया है. एक अधिकारी ने कहा, ‘कुंभ से आने वालों पर नजर रखी जा रही है. क्योंकि आशंका है कि यदि उन्हें समय पर अलग-थलग नहीं किया गया, तो वे सुपर स्प्रेडर बन जाएंगे और कई लोगों को संक्रमित कर देंगे. 

हरिद्वार कुंभ के दौरान ही कई लोग कोरोना संक्रमित हो गए थे. इस दौरान कई साधु-संतों की मौत भी हुई थी. जानकारों का मानना है कि जैसे-जैसे श्रद्धालु कुंभ से लौटकर अपने-अपने घर पहुंचेंगे, वैसे-वैसे कोरोना संक्रमण का खतरा और बढ़ता जाएगा. इसलिए हर राज्य सरकार अलर्ट हो गई है और हरिद्वार से आने वालों का टेस्ट किया जा रहा है.

 

By continuing to use the site, you agree to the use of cookies. You can find out more by clicking this link